NEWS FLASH नांदेड़ पुलिस भर्ती में बड़ा घोटाला, होणे के बाद परीक्षा रद्द 15 गिरफ्तार, और भी जगह घोटाला आ सकता है सामने, ..., **

बुधवार, २ मे, २०१८

नांदेड़ पुलिस भर्ती में बड़ा घोटाला, होणे के बाद परीक्षा रद्द

15 गिरफ्तार, और भी जगह घोटाला आ सकता है सामने

नांदेड़ - पुलिस भर्ती में बड़ा घोटाला सामने आया है, इसम शामिल २० में से 12 आरोपियो को पुउलीस ने हिरसत में लिया है, ऐसी जाणकारी पुलिस अधिकारी मीना ने दि, इसके बाद महाराष्ट्र राज्य प्रशिक्षण के खास दस्त विभाग के अप्पर पुलिस महासंचालक संदीप बिश्नोई ने नांदेड कि लिखित परीक्षा रदद कि है। इसम अब 15 लोग पुलिस हिरासत में है, और ५ लोगो को पकडाना बाकी है, अब नांदेड सहित अन्य 4 जिलों में भी इस भर्ती में घोटाला होने की जानकारी मिली है।


पुलिस सूत्रो ने दि जानकारी के अनुसार पुलिस भर्ती प्रक्रिया की लिखित प्रक्रिया में 13 उम्मीदवारों को 90 से अधिक अंक देने के लिए लाखों कि रकम का लेन-देन हुआ जिसका नांदेड जिला पुलिस अधीक्षक चंद्रकिशोर मीना ने पर्दाफाश किया है। परीक्षा पद्धति का आयोजन करने वाली सांगली की एक कंपनी के दो लोग व पुणे का एक शख्स इस मामले में मुख्य रूप से शामिल हैं। इस मामले में कुल 20 लोगों के नाम सामने आने के बाद सभी के खिलाफ नांदेड़ पुलिस ने मामला दर्ज कर 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिला पुलिस अधीक्षक चंद्रकिशोर मीणा ने एक प्रेस कांफ्रेंस में मामले की जानकारी देते हुए बताया कि नांदेड जिला में 69 पदों के लिए पुलिस भर्ती प्रक्रिया पिछले एक महीने से जारी है। मैदानी परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद 1 हजार 98 उम्मीदवारों की लिखित परीक्षा पंद्रह दिन पूर्व ही समाप्त हुई। इसी लिखित परीक्षा के पेपर में पेपर जांचनेवाली कंपनी के माध्यम से यह घोटाला किया गया। उम्मीदवार से 7 लाख 50 हजार रुपए लेकर पास करवाया जा रहा था। लिखित परीक्षा में 13 उम्मीदवारों को 90 से 94 प्रतिशद अंक मिलने पर संबंधित विभाग के अधिकारियों की शंका हुई। देखा जाए तो एग्जाम के समय प्रश्नपत्रिका भी वापस ली जाती है। लेखीत एक्झाम को दि जानेवाली उत्तरपत्रिका सप्लाय व ओ.एम.आर. द्वारा स्कॅन करणे का काम दिये हुए मेसर्स एस.एस.जी. सॉफ्टवेअर सल्युशेन पुणे कंपनी को दिया हुया एक्झाम कार्य पुरी तर्हसे कैन्सल कर दिया गया है। इस कंपणी जैसे मिलताजुलता नाम राहनेवाले कोई भी कंपनी को आज होनेवाली एक्झाम का कार्य नाहीय दिया जायेगा। इसकी पुरी जीमेदारी लेणी होगी, साथ हि नये सारे से होनेवाली पुली भरती एक्झाम कि पेपर जांच वरिष्ठ पुलिस अधिकारियो कि उपस्थिती व अंडर में करणी होगी। एक्झाम के दौरान व्हिडीओ रेकॉर्डींग का उपयोग किया जन चाहिये ऐसा जरी किया गये सूचना पत्र में लिखा गया है।

जांच के दौरान पाया गया कि प्रश्नपत्रिका पर गणित का प्रश्न हल करते समय किसी भी तरह का अंक या मार्क जोड़े नहीं  गए थे। सीधे-सीधे प्रश्न का सही उत्तर दे दिया गया था।बारीकी से जांच करने घपला सामने आया। प्रकरण में अबतक 15 उम्मीदवारों को हिरासत में लिया गया और 5 लोग पकडणे बाकी है। पहले तो आरोपियों ने जवाब देने में टाल-मटोल किया लेकिन जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो सचाई सामने आई।

टिप्पणी पोस्ट करा