NEWS FLASH नांदेड़ पुलिस भर्ती में बड़ा घोटाला, होणे के बाद परीक्षा रद्द 15 गिरफ्तार, और भी जगह घोटाला आ सकता है सामने, ..., **

बुधवार, २ मे, २०१८

प्रहार कार्यकर्तो का महाराष्ट्र दिन के पूर्व संध्या से भूख हड़ताल का तिसरा दिन

अधिकारी - कर्मीयों को निलंबित कर...
रेत ठेकेदार पर पुलिस कार्रवाई करें...
हिमायतनगर - रेती तस्कारो को अभय देणेवाले तहसीलदार व कर्मीयों कि जांचकर तत्काल निलंबित किया जाये। और कामारी पैनगंगा नदीपात्र से जेसीबी द्वारा निकाले गये गौण खनिज परिसर कि ETAS मशीन की मदद से जांच कर निकाले हुए अवैद्य खननं मामले में संबंधितो से राजस्व की वसूली कर पुलिस कार्रवाई होनी चाहिए। इस मांग को लेकर हिमायतनगर तहसील के सामने प्रहार संघटना के कार्यकर्ताओने तारीख 01 महाराष्ट्र दिवस की पूर्व संध्या से भूख हड़ताल शुरु कि है। बुधवार रोज तिसरे दिन भी यह अनशन जारी होनेसे नीलामी के नाम पर कामारी पैनगंगा नदी के अन्य घाट से अवैध रेत का खनन होणे कि बात को पुष्टी मिल रही है।

विदर्भ - मराठवाड़ा क्षेत्र से बहणे वाली पैनगंगा नदी कामारी ग्राम समीपसे गुजराती है, इस नदी के कुछ हिसे कि निकामी कलेक्टर ऑफिस से हुई थी, निकामी के जब संबंधित ठेकेदार को रेत खनन के लिये तकरीबन ७६ नियम को ध्यान में रखणें का शपथपत्र लिया गया था। किंतु ठेकेदार ने शासन द्वारा खनन के खातीर लगाये गये सभी नियमोको ताक पर रखकर जेसीबी द्वारा नदी पात्र से रेत चोरी कि है। करानवश नदी में बहने वाला पाणी रेत खनन द्वारा निर्माण हुए गड्ढे के कारण पुरी तर्हा से जमीन में चला गया है। उससे नदी की पाणी पर निर्भर ग्रामवासियो के साथ मवैशियो को गंभीर जलकिल्लत का सामना करते हुए भटकणे कि नौबत आई है। 

सरकारी राजस्व विभाग के अधिकारियों एवं करमियॉ कि मिलीभगत से नियमो का उल्लंघन, रेत निकाली जाणे से पर्यावण खतरे में आया है। और ठेकेदार द्वारा निकामी हुई जगह छोडकर अन्य इलाके से रेती निकाली जा रही है। निकाली गई रेत परिवहन व्यवस्था कि लिखावट में घपला कर रेती जमखोरी  हो राही है। नतीजतन, नदी में 5 से 6 फीट तक के बडे बडे गड्ढे निर्माण हुई हैं। इस मामले कि जाणकारी राजस्व विभाग के मंडल अधिकारी, पटवारी एवं तहसीलदार को होणे के बावजुद भी कोई कार्रवाई नहीं करते उलटा रेतीमाफिया को सपोर्ट कर रहें है। इस बात से तंग आये प्रहार संघटना  एसोसिएशन के तहसील अध्यक्ष गजानन ठाकरे ने नांदेड़ जिला कलेक्टर, जिला पुलिस नांदेड़, उप प्रभागीय पुलिस अधिकारी हदगाव, तहसीलदार हिमायतनगर इन्हे तारीख 05 अप्रैल, 16 अप्रैल, 21 अप्रैल को शिकायतें देकर कारवाई कि मांग कि थी। किंतु इस मामले कोई भी कारवाई नहीं होणे से गजानन ठाकरे, बालू पाटिल शिरफ़ुले ईन्होने 30 अप्रैल कि शाम से हिमायतनगर राजस्व कार्यालय के सामने भूक हाडटाल (आमरण अनशन) जारी किया है।

अनशनकर्ताओ ने दैनिक भास्कर से बात करते हुए काही कि कामारी के पैनगंगा नदी घाट से हुई रेत खुदाई कि ETAS मशीन द्वारा जाँच करके ठेकेदार समेत, वाहन मालिकों से जुर्माना वसुलकर पुलिस कार्रवाई हो। और रेत माफियाओ पर कार्रवाई करणे में टालमटोली करणेवाले राजस्व अधिकारी - कर्मीयों के कारोबार कि जांच कर तत्काल निलंबित किया जाये, साथ हि निकामी घाट कि बाज अन्य घाट से किये खनन को ध्यान में रखकर संबंधितो ठेकेदार व उमे शामिल लोगो पर कारवाई कर रेत के स्टोक जप्त करते हुए पर्यावरण को नुकसान और विभिन्न मांगे रखी गई है। अनशन को अबतक अनेको राजनैतिक लीडर, नागरिक समेत पर्यावरण प्रेमियो ने भेट देकर अनशनकर्ताओ को सपोर्ट दर्शाया है। ०१ में महाराष्ट्र्र दिवस रोज स्थानिक राजस्व अधिकारी धवजरोहण कर अनशनकर्ताओ के सामनेसे गुजर लेकिन उन्होने भेट नहीं देणे से राजस्व अधिकारी कि रेत खनन का गोरखधंदा करणेवाले माफिया को पुरी तर्हासे सपोर्ट हॊने कि आशंका भूक हडताल को बैठे कार्यकर्ताओ ने व्यक्त कि है। इस बात को ध्यान में लेकर नांदेड जिले के अभिभावक मंत्री तथा पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने ध्यान देकर हिमायतनगर तहसील के पैनगंगा नदी के नीलामी घाट और अन्य घाट पर चलाये जा रहें गोलमटोल कारोबार कि और ध्यान देणे कि मांग हो रही है। 
टिप्पणी पोस्ट करा