NEWS FLASH मराठा आरक्षण आंदोलन में नांदेड जिले का २४ लाख २५ हजार का हुवा नुकसान, आंदोलन में द्वेषभावना से कार्यरत आदोलंकारियो को ढुंढाने का काम सुरू - नांदेड पुलिस अधीक्षक संजय जाधव ..., **

सोमवार, १६ एप्रिल, २०१८

Garpitichya madatisathi Uposhan गारपिट यादीत घोळ.. वेळप्रसंगी आत्मदहन करणार

Hadgav Jalshuddhikaran Kam Suru जलशुद्धीकरणाच्या कामाला सुरुवात

Bogas BIyane Japt.. ३४ लक्ष रुपयाचे बीजी ३ चे बोगस बियाणे जप्त

Babsahebana Abhiwadan बाबासाहेबांच्या जयंती लेझीमने शहरवासीयांचे लक्ष वेधले

रविवार, १ एप्रिल, २०१८

बचतगुट निधी के साथ ग्रामविकास के नौ लाख का निधी डकारने वाले अपराधी सहीसलामत

तहसील कृषी अधिकारि ने दि शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया ठंडबस्ते में
हिमायतनगर - यहां के तहसील कृषी कार्यालय के तहत, सरकार ने बड़े पैमाने पर धन मुहैया कराया था, लेकिन यहां ​​लाखों रुपये के निधी का निर्माण कार्य फर्जी तरिके से होणे के कई शिकायतें सामने आईं है। पाणलोट के अंतर्गत ग्रामीण स्वयंसहाय्यता बचतगुट समूह के लिए धन मुहैया हो गया था, जबकि दस से बारा गांवों को तारीख 15 मार्च 2018 तक वितरित नहीं किया गया। एक करोड के करीब कि राशी  जस को तस रहणे के बाद भी कृषी विभाग के वरीष्टों ने किसी को भी दोषी न मानते खुला छोड देणे से हिमायतनगर शहर की बचत समूह के लिये उपलबध 08 लाख 38, हजार 712 और गांव विकास के लिये उपलब्ध 92 हजार 800

ऋणमाफी को पात्र किसानों की राशि तत्काल बैंकखाते में जमा करें

सरसम के किसानों ने दिया समुदाय आत्मदाह करणे कि चेतावणी 
हिमायतनगर - सरकार के ऋणमाफी को बोचत दिन बिते, किंतु ऋणमाफी के लिये पात्र किसानों के  लाभान्वित खाते में सरमस बु. एसबीआय शाखा के अधिकारी ने अभीतक ऋणमाफि कि राशी जमा नहीं करवाई है, इसी कारण यहा के किसान बैंको कि लापरवाही कारोबर को लेकरं संतप्त हुए है। तत्काल किसानों के बैंक खाते में ऋणमाफी कि राशि जमा करें अन्यथा एस.बी.आई. शाखा सरसम बु. बैंक के सामने तारीख 5 अप्रैल को इस क्षेत्र के किसान सामूहिक आत्मदहन करेंगे ऐसी चेतावणी दि है, उससे जिले के साथ हिमायतनगर तहसील में खलबली मची है।

हिमायतनगर के जेष्ठ नागरिक गुलाम रसुल हैदरसाब का देहांत

हिमायतनगर - शहर में पुलिस स्टेशन परीसर कस मोमिनपुरा निवासी जेष्ट नागरीक गुलाम रसुल हैदरसाब का 85 साल की उम्र ने वृद्धावस्ता के चलते तारीख 31 मार्च के दोपहर 12 बाजे के दौरान देहांत हो गया है। उनके परहिव शरीर पर शाम को ६ बाजे चौपाटी मैदान के शमशान भूमी में मुस्लिम समाज की रितिवाजानुसार दफ़नविधि किया गया। उनके मृत्यू पश्चात तिन बच्चे, एक लड़की, बहुये, नाती - पोती ऐसा परिवार है। वे शहर के प्रतिष्टित भुसार

Hanuman Jayanti Lakho Bhavikanchi Gardi मारोती मंदिरात भक्तांची मंदियाळी